ध्वस्त होगा बैटर्स के लिए काल बनने वाला न्यूयॉर्क स्टेडियम, भारत के लिए साबित हुआ था लकी

न्यूयॉर्क: टी20 वर्ल्ड कप के लिए अस्थायी तौर पर तैयार किया गया नासाउ काउंटी इंटरनैशनल क्रिकेट स्टेडियम को ध्वस्त कर दिया जाएगा। वर्ल्ड कप में कम स्कोर वाले कई रोमांचक मैचों के गवाह रहे इस मैदान पर आखिरी मुकाबले में सह मेजबान अमेरिका पर भारत ने सात विकेट की जीत दर्ज की। केवल 106 दिनों में तैयार किए गए इस स्टेडियम के लिए एडिलेड में तैयार हुई ड्रॉप-इन पिचों ने बल्लेबाजों की अग्नि-परीक्षा ली। स्टेडियम का निर्माण यहां के लॉन्ग आइलैंड में 930 एकड़ के आइजनहावर पार्क के किनारे किया गया है। स्टेडियम में 10 ड्रॉप-इन पिचें थीं। इसमें से चार मुख्य मैदान के लिए और छह कैंटियाग पार्क में ट्रेनिंग के लिए।

स्टेडियम को धवस्त करने में लगेंगे 6 हफ्ते

‘न्यूयॉर्क टाइम्स’ की एक रिपोर्ट में कुछ दिन पहले कहा गया था, ‘12 जून को आखिरी मैच के आयोजन के बाद इस स्टेडियम को ध्वस्त कर दिया जाएगा। इसके हिस्सों को लास वेगास (फॉर्म्युला-वन रेस) और एक अन्य गोल्फ मैदान में वापस भेज दिया जाएगा। आइजनहावर पार्क सामान्य स्थिति में लौट आएगा, लेकिन विश्व स्तरीय क्रिकेट पिच को बरकरार रखा जाएगा।’ स्टेडियम को ध्वस्त करने में लगभग छह सप्ताह का समय लगेगा। इस स्टेडियम की क्षमता क्षमता 34,000 दर्शकों की थी और 9 जून को पाकिस्तान के खिलाफ भारत के अहम मुकाबले के दौरान यह खचाखच भरा हुआ था। इस मैच के टिकट 2500 डॉलर से 10,000 डॉलर की भारी कीमत पर बेचे गए थे।

रन बनाना था मुश्किल

भारत ने बांग्लादेश के खिलाफ प्रैक्टिस मैच सहित इस मैदान पर कुल चार मैच खेले। ड्रॉप-इन पिचों ने ग्रुप स्टेज के आठ मैचों की मेजबानी की। इस दौरान अप्रत्याशित और खतरनाक उछाल ने बल्लेबाजों को काफी परेशान किया। शुरुआती दो मैच कम स्कोर वाले रहे जहां किसी भी टीम ने 100 रन का आंकड़ा पार नहीं किया। भारत के खिलाफ आयरलैंड की टीम 96 रन पर आउट हो गई। इस मैच के लक्ष्य का पीछा करते हुए रोहित शर्मा और ऋषभ पंत को चोट भी लगी। इसके बाद पिच की व्यापक आलोचना हुई और आईसीसी को यह स्वीकार करते हुए एक बयान जारी करना पड़ा कि ‘इन पिचों में निरंतरता की कमी है।’
भारत और साउथ अफ्रीका ने जीते यहां अपने सारे मैच

भारत और साउथ अफ्रीका ने यहां सर्वाधिक तीन-तीन मैच खेले। दोनों टीमों का यहां जीत का रेकॉर्ड सौ प्रतिशत रहा। भारत ने बुधवार को अमेरिका के खिलाफ तीन विकेट पर 111 रन बनाये जो सफलतापूर्वक लक्ष्य का पीछा करते हुए इस मैदान का सबसे बड़ा स्कोर रहा। आयरलैंड के खिलाफ कनाडा का सात विकेट पर 137 का स्कोर इस मैदान का सर्वोच्च स्कोर रहा। भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ 119 और साउथ अफ्रीका ने बांग्लादेश के खिलाफ 113 रन के छोटे स्कोर का सफलतापूर्वक बचाव किया। साउथ अफ्रीका ने इससे पहले नीदरलैंड्स के खिलाफ 103 रन का लक्ष्य मुश्किल से छह विकेट गवांकर हासिल किया था। आईसीसी ने इस स्थल का चयन 2023 में किया था और इसे केवल 106 दिनों में बनाया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button